Life Management

सपनें देखियें ! मगर खुली आँखों से – Dream !

बहुत – बहुत स्वागत हैं दोस्तों और आज हम बात करेंगे कि सपने देखने चाहिए या नहीं आपने शायद सुना भी होगा आपको किसी ने कहा होगा कि सपने देखना बंद कर कुछ काम कर ले सपने कभी सच नहीं हुआ करते बेटा | मेरे साथ भी हुआ हैं ऐसा, लेकिन मुझे लगता हैं कि बिना सपनों के आप कुछ बड़ा कर ही नहीं सकते | मैं उस सपने की बात नहीं कर रहा हूँ जो आप रात को नींद में लेते हैं मैं उन सपनों की बात कर रहा हूँ जो आप खुली आँखों से देखते हैं वहीँ तो असली सपने होते हैं | हमारे देश भारत के पूर्व रास्ट्रपति और मिसाइल मैन कहे जाने वाले माननीय डॉ ए पी जे अब्दुल कलाम जी ने दो लाइनों में कहा हैं कि ” सपने वो नहीं जो आप रात को सोते वक्त देखते हैं, सपने तो वो हैं जो आपको सोने नहीं देते” |

बार-बार कोशिश करने के बावजूद सफलता नहीं मिलती !

आप सपने देखिये ओर उन्हें सच करने के लिए लग जाइये अब आप ये मत सोचने लग जाइये कि सपने देख लो बस हो गया काम | नहीं, सपना सच तभी होगा जब आप उसे सच करने के लिए जद्दोजहद करेंगे | जो आपको बोलते हैं कि सपने देखना बंद कर कुछ काम कर ले वो इसीलिए बोलते हैं क्योंकि आपके पास एक सपना हैं कि मुझे ये करना हैं, ये बनना हैं उसे आप सिर्फ ढ़ोल की तरह बजाते रहते हैं कि मैं ये करूँगा, वो करूँगा पर करते कुछ नहीं, कहने का मतलब हैं एक्शन में आइये | फिर आपके सपने सच होंगे |

सबसे बड़ा रोग, क्या कहेंगे लोग | What Will People Say

चलिए ये तो थी सपनों कि बात अब मैं आपको एक छोटी सी घटना बता रहा हूँ मेरे एक मित्र का मुझे फ़ोन आया उसका काफी लम्बे समय के बाद फ़ोन आया था हमारी ऐसे ही बात चल रही थी तो बात करते – करते मैंने उससे पूछ लिया कि भाई तुम जिंदगी में करना क्या चाहते हो तुम्हारा कोई सपना हैं या नहीं उसने कहा हाँ यार सपने तो है मेरे, और काफी बड़े – बड़े सपने हैं मैंने पूछा तो बता क्या हैं तेरा सपना उसने कहा मेरे 9 सपने हैं दोस्तों मैं चोंक गया कि यार तेरे 9 सपने हैं तू सभी को सच कर लेगा उसने कहाँ हाँ कोशिश तो करूँगा | मैंने उसको कहाँ भाई वो तेरे सपने नहीं हैं वो तेरा आकर्षण हैं 9 अलग – अलग चीजों की तरफ, जो कि तुझे अच्छी लगती हैं मैंने उसको समझाया कि भाई तेरे सच में जो सपने होंगे वो 1 या 2 ही होंगे और उनको पाने के लिए तू दिन – रात कुछ नहीं देखेगा जबकि आकर्षण तेरी इच्छा हैं कि वो तुझे मिल जाये तू उसके लिए दिन रात एक कर ही नहीं सकता तब जाके उसको समझ आया |

अपनी ताकत को पहचानों / Recognize Your Strength

दोस्तों मैंने आपको ये घटना इसलिए बताई हैं कि सच में जो आपके सपने होंगे जिनकों सच करने के लिए आप को नींद नहीं आएगी हर वक्त आप उसी के बारें में सोचेंगे, आप काम करेंगे लेकिन आप को मजा आएगा आप खुश रहेंगे वो सिर्फ 1 या 2 ही होंगे | अगर आपके साथ ऐसा हैं तो खुद को समय दीजिये अकेले में बैठिये और पता कीजिये की सच में मेरे सपने कितने हैं और लग जाइये सपनों को सच करने में, फिर सपनें सपनें नहीं हकीकत होंगे |

तू ये नहीं कर सकता / तेरे बसका नहीं हैं

दोस्तों जैसा कि मैं हर आर्टिकल में लिखता हूँ कि आप अपने सुझाव और प्रतिक्रिया जरूर भेजा करें |

 

 

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *